35.5 C
नरसिंहपुर
April 24, 2024
Indianews24tv
खेल

Cricketer Mayank Yadav became a speed merchant – News18 हिंदी


मोहन प्रकाश/सुपौल. बिहार के एक युवा खिलाड़ी को आईपीएल फ्रेंचाइजी लखनऊ सुपर जायंट्स ने वर्ष 2022 में 20 लाख देकर खरीदा. लेकिन, उसे एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला. अगले सीजन में हैमस्ट्रिंग की चोट के कारण भी वह एक भी मैच नहीं खेल पाया. लगातर दो सालों तक बाहर से क्रिकेट को देखते हुए इस युवक ने खुद को संघर्ष की भट्ठी में इतना तपाया कि इस सीजन में जब उसे खेलने का मौका मिला, तो पहले ही मैच में उसने किंग्स इलेवन पंजाब के तीन विकेट चटका दिए. उसे मैन ऑफ द मैच भी चुना गया.

जी हां! हम बात कर रहे हैं बिहार के सुपौल जिले के मरौना प्रखंड अंतर्गत मरौना दक्षिण पंचायत के रतहो निवासी मयंक यादव की. किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान शिखर धवन के खिलाफ मयंक ने 155.8 KM/H की रफ्तार से गेंद फेंकी. यह आईपीएल 2024 की अबतक की सबसे तेज गेंद है. मयंक की रफ्तार को देख खुद साउथ अफ्रीका के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने भी कहा, कहां छुपे थे!

साधारण परिवार से ताल्लुक रखते हैं मयंक
मयंक के पिता प्रभु यादव दिल्ली में सायरन बनाते हैं. वे बताते हैं कि मयंक, बचपन से ही क्रिकेट खेलने का शौकीन था. पढ़ाई के बाद हमेशा अपने सहपाठी के साथ क्रिकेट मैदान से लेकर गली-कूची तक में खेलते रहता था. क्रिकेट के प्रति अत्यधिक झुकाव के बाद हमलोगों ने भी सहयोग करना शुरू कर दिया. वे बताते हैं कि सबसे पहले मयंक ने अपने स्कूल की ओर से क्रिकेट खेलना शुरू किया था.

उसके प्रदर्शन को देखते हुए पहली बार वर्ष 2019 में ही दिल्ली की स्टेट टीम में सेलेक्शन हुआ. फिर, दो साल बाद वर्ष 2022 में आईपीएल फ्रेंचाइजी लखनऊ सुपर जाइंट्स ने 20 लाख में उसे खरीद लिया. लेकिन खेलने का मौका इस बार मिला. अपने पहले ही मैच में उसने शानदार गेंदबाजी करते हुए चार ओवर में 27 रन देकर पंजाब के तीन खिलाड़ियों को आउट किया और अपनी टीम को जीत दिलाई.

कोसी क्षेत्र में खुशी का माहौल
मयंक का गांव कोसी क्षेत्र का बाढ़ प्रभावित इलाका है. इस इलाके के बेटे को आईपीएल में कमाल करता देख गांव ही नहीं, इलाके के लोग भी काफी खुश हैं. मयंक के चाचा फूल कुमार स्थानीय पत्रकार हैं. वे बताते हैं कि मयंक का जन्म भी दिल्ली में ही हुआ था. वह सीधे और सरल स्वभाव का युवक है. दिल्ली में ही रहकर 12वीं पास की है. जबकि, उसके पिता प्रभु यादव ने कहा कि उनकी इच्छा थी की उनका बेटा क्रिकेटर बने और क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर की तरह देश का नाम रौशन करे.

यही कारण था कि तैयारी के लिए उन्होंने मयंक को आर्य जिमखाना में भर्ती कराया. उसके बाद दिल्ली के ही इंद्रप्रस्थ नेशनल क्रिकेट एकेडमी में नामांकन कराया. उसके क्रिकेट गुरु देवेंद्र ने दिन-रात मेहनत कर उसे संवारा है.

बुमराह की तरह हैं बेहद प्रभावी
मयंक यादव ने अब तक 2 फर्स्ट क्लास, 17 लिस्ट और 11 टी20 मुकाबले खेले हैं. इसमें उन्होंने क्रमश: 2, 34 और 15 विकेट चटकाया है. मयंक की सबसे खास बात यह है कि टी20 क्रिकेट में भी उनका इकॉनामी रेट सिर्फ 6.48 का ही है. उनका स्ट्राइक रेट भी 13.2 का है. बता दें कि 214 टी20 मुकाबले खेल चुके बुमराह का इकॉनामी रेट 7.01 जबकि स्ट्राइक रेट 18.2 है.

Tags: Bihar News, Cricket news, IPL 2024, Local18, Supaul News



Source link

Related posts

KKR के ओपनर का बयान, कहा- इस बार वो गलती नहीं करूंगा जो 2022 में की…

Ram

बेटे को इंजीनियर बनाना चाहते थे पिता, क्रिकेट में लग गया मन, आज है IPL टीम का कप्तान

Ram

IPL 2024 का गजब खेल, 2 बैटर ने ठोके शतक, 1 सबसे उपर तो दूसरा 15वें नंबर पर, ऑरेंज कैप किसके सिर ?

Ram

Leave a Comment