36.4 C
नरसिंहपुर
April 18, 2024
Indianews24tv
देश

Opinion: एक फैसले से मिलेगी पीएम मोदी के आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन को नई ऊंचाई


नई दिल्‍ली. मोदी सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने सेंट्रल गवर्नमेंट हेल्थ स्कीम कार्ड और आयुष्मान भारत हेल्थ कार्ड को लिंक करना अनिवार्य कर दिया है. देखने और सुनने में इन दोनों कार्ड्स को लिंक करना सरकार के एक सामान्य प्रक्रिया का भाग लगता है, लेकिन ऐसा नहीं है. केंद्र सरकार की ये पहल पीएम मोदी की दूरदर्शिता को दिखाता है. पीएम मोदी भारत की स्वास्थ्य सेवाओं को एक नयी उचाई प्रदान करना चाहते है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की हर नागरिक को कैसे एक बेहतर और विश्व स्तर की स्वास्थ्य सेवा मिले इसके लिए लगातार कोशिश मे लगे हुए हैं.

CHGS कार्ड धारकों को आयुष्मान भारत हेल्थ कार्ड से लिंक करने के पीछे स्वास्थ्य मंत्रालय की मंशा आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन को नयी ऊंचाई प्रदान करना है. आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वकांक्षी मिशन है, जिसके जरिये पूरे भारत की स्वास्थ्य सेवा और उसके सेवा लेने वाले को एक सूत्र में बांधने की कोशिश है. पीएम के इस महत्वकांक्षी योजना से मरीजों को एक समावेशी और सस्ती स्वास्थ्य सेवा का लाभ मिलेगा.

आयुष्मान भारत हेल्थ कार्ड के फायदे :-

पेशेंट अपने मेडिकल रिकॉर्ड को आसानी से स्टोर और एक्सेस कर सकेंगे.

डॉक्टर्स को अपना हेल्थ रिकॉर्ड शेयर करना आसान होगा.

मेडिकल हिस्ट्री के बारे में सही जनकारी हासिल होगी.

मेडिकल ट्रीटमेंट की क्वालिटी बेहतर बनाई जा सकेगी.

टेलीमेडिसिन जैसी तकनीकों के उपयोग करना आसान होगा.

–  प्राइवेट और सरकारी दोनों अस्पतालों में होने वाला इलाज डिजिटल तरीके से इस कार्ड पर लिंक हो जाएगा.

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन नये मुकाम पर

देश हित में कई फैसले
केंद्र की मोदी सरकार ने बीते 10 सालों के अपनी सरकार में कई सारे मील के पत्थर हासिल किये है. पीएम मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने देश के हित में कई बड़े फैसले लिए हैं, उनमें से हेल्थ सेक्टर को इस सरकार ने सर्वोच्च प्राथमिकता देने का प्रयास किया है. पीएम मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने 2021 मे डिजिटल स्वास्थ्य इकोसिस्टम बनाने के लिए आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन शुरू किया. इस मिशन का लक्ष्य 2025-26 तक पुरे देश को इस स्वास्थ्य इकोसिस्टम मे जोड़ने की है, जिससे देश के मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा मिल सके. आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन का उद्देश्य देश में यूनिफाइड डिजिटल सिस्टम के जरिये इनसे जुड़े बुनियादी ढांचे को मजबूती प्रदान करना है. आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन न केवल डिजिटल असमानता को पाटने में मदद करती हैं, बल्कि लोगों को कुशल, सुलभ, समावेशी, किफायती, समय पर और सुरक्षित तरीके से स्वास्थ्य देखभाल सुविधा का लाभ लेने में भी मदद करती है.

आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाते
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2021 मे इस मिशन की शुरुआत की है. पीएम के आह्वान पर देश के लोग इस मिशन से जुड़ते जा रहे हैं. जानकर आश्चर्य होगा की 2021 मे शुरू हुई इस योजना में फरवरी 2024 तक 56.67 करोड़ लोगों के आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाते (ABHA) बनाए जा चुके हैं. 29 फरवरी 2024 तक 27.73 करोड़ महिलाएं और 29.11 करोड़ पुरुषों को आभा कार्ड से लाभ हुआ है. वहीं, 34.89 करोड़ से अधिक स्वास्थ्य दस्‍तावेजों को इससे जोड़ा गया है.

एनडीएचएम का उद्देश्य क्या है?
एनडीएचएम व्यक्तियों की सहमति से उनकी ओर से स्वास्थ्य रिकॉर्ड रखता है. इससे मरीजों, स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं और सेवा प्रदाताओं के लिए रिकॉर्ड साझा करना आसान हो जाता है.

जनता द्वारा डिजिटल स्वास्थ्य कार्ड के व्यापक उपयोग को बढ़ावा देना है. इन कार्डों में चिकित्सकों, स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं, संगठनों, क्लीनिकों, फार्मेसियों और चिकित्सकीय दवाओं के बारे में विवरण शामिल है.

Opinion: एक फैसले से मिलेगी पीएम मोदी के आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन को नई ऊंचाई

सीजीएचएस के फायदे
सीजीएचएस योजना केंद्र सरकार के कर्मचारियों, पेंशनभोगियों और उनके आश्रित परिवार के सदस्यों को व्यापक स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करती है. वर्तमान में इस योजना के अंतर्गत 4.4 मिलियन से अधिक लोग शामिल हैं. सीजीएचएस डैशबोर्ड पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, 2 अप्रैल तक केवल 21,362 सीजीएचएस आईडी को एबीएचए आईडी के साथ जोड़ा गया है. यानी सभी CGHS कार्ड्सधारको को आभा से जोड़ा जायेगा तो आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन को नयी उचाई मिलेगी. एबीएचए आईडी या नंबर एक 14 अंकों की संख्या है जो भारत के डिजिटल हेल्थकेयर पारिस्थितिकी तंत्र में एक लाभार्थी की विशिष्ट पहचान करती है. सभी नागरिक ABHA खाता खोल और संचालित कर सकते हैं.

Tags: Ayushman Bharat, Prime Minister Narendra Modi



Source link

Related posts

‘हाजी साब’ के घर के पास दिखी JCB, डर के मारे खुद ढा दिया मकान, लोग बोले- ये है बुलडोजर का आतंक…

Ram

मोदी सरकार एक और कूटनीतिक सफलता की ओर अग्रसर, ईरान के कब्जे से जल्द रिहा होंगे 17 भारतीय

Ram

अचानक धंस गया सीएम नीतीश का ड्रीम प्रोजेक्ट, पटना में बन रहे पुल में घटिया निर्माण का आरोप

Ram

Leave a Comment