43.9 C
नरसिंहपुर
May 21, 2024
Indianews24tv
देश

सांसों पर आफत और नसों को लुंज-पुंज बना सकती है विटामिन बी 12 की कमी, हल्के में लेंगे तो दिमाग भी हो जाएगा सुन्न, ये फूड खाएं


Vitamin b 12 deficiency: हमारे जीवन के लिए विटामिन बेहद जरूरी है. वैसे तो हर तरह के विटामिंस की हमारे शरीर में संतुलित मात्रा में जरूरत होती है लेकिन भारत में अधिकांश लोगों में विटामिन बी 12 की कमी होती है. एक्सपर्ट की मानें तो भारत में करीब 70 प्रतिशत लोगों में विटामिन बी 12 की कमी होती है. अगर आपके शरीर में विटामिन बी 12 की कमी हो जाए तो सांसों पर आफत आ सकती है क्योंकि विटामिन बी 12 खून के रेड ब्लड सेल्स को बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. अगर रेड ब्लड सेल्स की कमी हो जाए तो लंग्स से ऑक्सीजन खींचने का काम कम हो जाएगा इससे शरीर में ऑक्सीजन नहीं पहुंचेगा और दम फूलने लगेगा. इतना ही नहीं विटामिन बी 12 नसों के फंक्शन को सक्रिय करने के लिए भी जरूरी है. इसके अलावा डीएनए के निर्माण और सेल मेटाबोलिज्म में भी विटमिन बी 12 की जरूरत होती है.

विटामिन बी 12 की कमी के कारण बीमारियां
मायो क्लिनिक के मुताबिक अगर विटामिन बी 12 की कमी हो जाए तो इससे हार्ट और ब्लड वैसल्स से संबंधित बीमारियां होती है. इसके साथ ही विटामिन बी 12 की कमी होने पर भूलने की बीमारी डिमेंशिया होती है. अगर विटामिन बी 12 की कमी हो जाए तो खिलाड़ियों का प्रदर्शन कमजोर हो जाता है क्योंकि इससे शरीर में थकान और ताकत की कमी हो जाती है. विटामिन बी 12 की कमी होने पर एनीमिया की बीमारी हो सकती है यानी शरीर में खून की कमी हो सकती है. इसके साथ मसल्स में कमजोरी और आंतों में भी परेशानी हो सकती है. यहां तक कि ज्यादा दिनों तक इसे अगर नजरअंदाज करेंगे तो इससे नसें भी डैमेज हो सकती है. रोजाना एक वयस्क व्यक्ति को एक दिन में 2.4 माइक्रोग्राम विटामिन बी 12 की जरूरत होती है.

विटामिन बी 12 की कमी के लक्षण

विटामिन बी 12 की कमी से एनीमिया की बीमारी होती है. यानी खून की कमी. जब शरीर में खून की कमी होगी तो सांस लेने में दिक्कत होने लगेगी. बहुत अधिक कमजोरी और थकान भी होगी. याददाश्त कमजोर होने लगेगा. किसी चीज पर ध्यान केंद्रित कर सोचना मुश्किल होने लगेगा. भूलने की बीमारी हो जाएगी. एंग्जाइटी और डिप्रेशन का भी खतरा बढ़ जाएगा. यहां तक कि बेहोशी भी हो सकती है.

कैसे विटामिन बी 12 को बढ़ाएं
शरीर में विटामिन बी 12 की कमी न हो इसके लिए पोषक तत्वों से भरपूर भोजन का सेवन करें. हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के मुताबिक एनिमल प्रोडक्ट में ज्यादा विटामिन बी 12 होता है. इसके लिए मीट, मछली, अंडा और चिकन का सेवन करना चाहिए लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि सिर्फ एनिमल प्रोडक्ट में ही विटामिन बी 12 होता है. जो लोग बेजिटेरियन हैं, उनके लिए साबुत अनाज और डेयरी प्रोडक्ट बेहतर विकल्प है. इसके अलावा सोया और राइस मिल्क में भी पर्याप्त मात्रा में विटामिन बी 12 होता है. वहीं चुकंदर, लाल सब्जी जैसे आलू, सफेद सब्जी मशरूम आदि से विटामिन बी 12 को प्राप्त किया जा सकता है. वहीं हरी सब्जियों में विटामिन बी 12 पर्याप्त मात्रा में रहता है.

इसे भी पढ़ें-बहुत जालिम है अच्छा समझे जाने वाले ये 3 फूड, खाली पेट खा लिए तो सेहत का हो सकता है बेड़ा गर्क, डायबिटीज वालों के लिए तो जहर

इसे भी पढ़ें-2 इन 1 है यह दवा, वजन कम करने के साथ-साथ हार्ट अटैक का खतरा भी कर सकती है कम, रिसर्च में साबित हुई बात

Tags: Health, Health tips, Lifestyle



Source link

Related posts

Kavitha Involved in Payment of Kickbacks, Money Laundering: ED Tells Delhi Court

Ram

Found Unconscious With Mother’s Corpse Three Days After Death, Mentally Ill Woman Dies In Hospital

Ram

‘क्या आप विपक्ष के PM फेस के लिए…’ जब दिल्ली सीएम से पूछा सवाल, केजरीवाल बोले- आप की गारंटी!

Ram

Leave a Comment