43.9 C
नरसिंहपुर
May 21, 2024
Indianews24tv
खेल

बैटर जिन्‍होंने ODI में पहली ही गेंद पर विकेट लेने का बनाया रिकॉर्ड, लिस्‍ट में भारतीय प्‍लेयर भी शामिल


नई दिल्‍ली. क्रिकेट टीम, तीन तरह के प्‍लेयर के ‘कॉबिनेशन’ से बनती है. कुछ प्‍लेयर की बैटिंग में महारत होती है और ये खालिस बैटर की हैसियत से खेलते हैं. कुछ बॉलिंग में निपुण होते हैं और इनकी मुख्‍य जिम्‍मेदारी विपक्षी बैटरों को आउट करने की होती है. तीसरी कैटेगरी के खिलाड़ी ऐसे होते हैं जो बॉलिंग-बैटिंग, दोनों में निपुण होते हैं और दोनों क्षेत्रों में टीम के लिए उपयोगी होते हैं. ऑलराउंडर्स किसी भी टीम को संतुलन प्रदान करते हैं.

हालांकि खालिस बैटर और बॉलर ने कभी-कभी अपने क्षेत्र से परे भी शानदार प्रदर्शन करते हुए लोगों की वाहवाही हासिल की है. ऐसे कई बॉलर हैं जिन्‍होंने ‘नाइटवॉचमैन’ के हैसियत से टीम के लिए शतक-अर्धशतक लगाए हैं. इसी तरह कुछ बॉलर टीम के मुश्किल वक्‍त में छोटी लेकिन महत्‍वपूर्ण पारी खेलकर  जीत में योगदान दे चुके हैं. इसी तरह बैटर भी कुछ मैचों में पार्टटाइम बॉलर के रोल में न सिर्फ उतरे हैं. यही नहीं, कुछ बैटर तो इंटरनेशनल क्रिकेट में अपनी पहली ही गेंद पर विकेट लेने का कारनामा भी कर चुके हैं.

T20I में 2 बार 6 गेंदों पर 6 छक्‍के लगा चुका ये बैटर, 9 गेंद में बनाई फिफ्टी, वर्ल्‍डकप में रहेगी सबकी नजर

ऐसे प्रमुख बैटर, जिन्‍होंने ODI में अपनी पहली ही गेंद पर विकेट लिया..

Wicket with first ball in ODI career, Clive Lloyd, Inzamam-ul-Haq, Sadagoppan Ramesh, Wavell Hinds, Martin van Jaarsveld, वनडे करियर की पहली ही बॉल पर विकेट, क्‍लाइव लॉयड, इंजमाम उल हक, सदगोपन रमेश, बावेल हाइंड्स, मार्टिन वान जार्सवेल्‍ड

क्‍लाइव लॉयड : छह फुट पांच इंच लंबे क्‍लाइव लॉयड (Clive Lloyd) को वेस्‍टइंडीज को विश्‍व क्रिकेट की अजेय ब्रिगेड के तौर पर स्‍थापित करने का श्रेय जाता है. इस दौर में इंडीज टीम टेस्‍ट और वनडे, दोनों ही फॉर्मेट में लगभग अपराजेय थी और इसकी तेज गेंदबाजी चौकड़ी का सामना करने में दुनिया के नामी बैटरों का भी पसीना छूटता था. लॉयड की कप्‍तानी में इंडीज टीम 1975 और 1979 के वर्ल्‍डकप में चैंपियन बनी लेकिन 1983 में कपिल देव की टीम इंडिया के हाथों फाइनल में मिली हार ने इसके हैट्रिक के सपने का तोड़ दिया था. लॉयड ने 110 और 87 वनडे मैच खेले. टेस्‍ट क्रिकेट में उन्‍होंने 46.67 के औसत से 7515 रन (19 शतक) और वनडे में 39.54 के औसत से 1977 रन (एक शतक) बनाए. बाएं हाथ से बैटिंग के अलावा उन्‍होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में कुछ मौकों पर बॉलिंग भी की. वनडे करियर की अपनी पहली ही बॉल पर विकेट लेने का रिकॉर्ड भी उनके नाम पर हैं. 7 अगस्‍त 1973 को इंग्‍लैंड के खिलाफ ओवल वनडे में लॉयड ने मेजबान टीम के ओपनर माइक स्मिथ को बोल्‍ड किया था. इस पारी में उनहोंने इंग्‍लैंड के कप्‍तान माइक डेनेस को भी आउट किया था. टेस्‍ट में 10 और वनडे में 8 विकेट लॉयड के नाम पर हैं.

‘ससुर’ कमाल तो ‘दामाद’ भी कम नहीं, शाहिद अफरीदी के 3 रिकॉर्ड की शाहीन ने की बराबरी

इंजमाम उल हक : पाकिस्‍तान के सर्वकालीन सर्वश्रेष्‍ठ बैटरों में से एक इंजमाम (Inzamam-ul-Haq) ने 120 टेस्‍ट, 378 वनडे और एक टी20I के अपने करियर में बहुत कम बॉलिंग की. टेस्‍ट क्रिकेट में 25 शतकों की मदद से 8830 और वनडे में 10 शतकों की मदद से 11,739 रन बनाने वाले ‘इंजी’ ने इंटरनेशनल क्रिकेट में केवल 67 बॉल (टेस्‍ट में 9 और वनडे में 58) गेंद फेंकी. उनका बॉलिंग एक्‍शन भी अजीबोगरीब था. वैसे लॉयड की तरह इंजमाम भी वनडे करियर की अपनी पहली बॉल पर विकेट लेने का कमाल कर चुके हैं. इंजमाम ने वनडे की अपनी पहली बॉल पर किसी छोटे-मोटे बैटर नहीं बल्कि वेस्‍टइंडीज के महान क्रिकेटर ब्रायन लारा को शिकार बनाया था. 24 नवंबर 1991 को फैसलाबाद में खेले गए वनडे में उन्‍होंने लारा को विकेटकीपर मोइन खान से कैच कराया था. ODI में इंजमाम के खाते में तीन विकेट हैं.

T20 वर्ल्‍डकप में दो टीमों से कभी नहीं जीत पाई टीम इंडिया, 4 टीमों से कभी नहीं हारी

Wicket with first ball in ODI career, Clive Lloyd, Inzamam-ul-Haq, Sadagoppan Ramesh, Wavell Hinds, Martin van Jaarsveld, वनडे करियर की पहली ही बॉल पर विकेट, क्‍लाइव लॉयड, इंजमाम उल हक, सदगोपन रमेश, बावेल हाइंड्स, मार्टिन वान जार्सवेल्‍ड

सदगोपन रमेश : बाएं हाथ के आकर्षक बैटर सदगोपन रमेश (Sadagoppan Ramesh) ने 1999 से 2001 के बीच भारत की ओर से 19 टेस्‍ट और 24 वनडे खेले. पाकिस्‍तान के बाएं हाथ के बैटर सईद अनवर की तरह रमेश की पहचान गेंद के बेहतरीन टाइमर के तौर पर थी और वे भी सईद की तरह ओपनर थे. टेस्‍ट क्रिकेट में दो शतकों की मदद से 1367 रन बनाने वाले रमेश ने वनडे में छह अर्धशतकों की मदद से 646 रन बनाए. वनडे करियर की अपनी पहली ही बॉल पर उन्‍होंने वेस्‍टइंडीज के निक्‍सन मैक्‍लीन का विकेट लिया. 6 सितंबर 1999 को सिंगापुर में कोकाकोला कप के मैच में उन्‍होंने मैक्‍लीन को देवाशीष मोहंती से कैच कराकर इस ‘खास क्‍लब’ में जगह बनाई थी. क्रिकेट से संन्‍यास लेने के बाद रमेश तमिल फिल्‍म इंडस्‍ट्री में एक्‍टर के तौर पर सक्रिय हैं. इसी तरह भारत के भुवनेश्‍वर कुमार भी वनडे करियर (यही उनका डेब्‍यू वनडे था) की अपने पहली ही गेंद पर विकेट ले चुके हैं लेकिन ‘भुवी’ की पहचान मूल रूप से बॉलर के तौर पर ही है.

क्रिकेटर जिनकी बीवियां भी खेलीं इंटरनेशनल क्रिकेट,एक जोड़ी जीत चुकी वर्ल्‍डकप

बावेल हाइंड्स : लॉयड और रमेश की ही तरह बाएं हाथ से बैटिंग करने वाले बावेल हाइंड्स (Wavell Hinds) ने वेस्‍टइंडीज के लिए 45 टेस्‍ट और 119 वनडे मैच खेले. क्रिकेट के दोनों ही फॉर्मेट में उनके नाम पर पांच-पांच शतक दर्ज हैं. टेस्‍ट में वे इंडीज टीम की शुरुआत भी कर चुके हैं. वर्ष 2009 में करियर के चौथे ही टेस्‍ट में पाकिस्‍तान के खिलाफ ब्रिजटाउन टेस्‍ट में 165 और 52 रनों की पारी खेलकर चमक दिखाने वाले हाइंड्स ने अपने डेब्‍यू वनडे में पहली ही गेंद पर विकेट हासिल किया था. 5 सितंबर 1999 को भारत के खिलाफ सिंगापुर में हुए मैच में उन्‍होंने विकेटकीपर बैटर मानव प्रसाद (MSK Prasad) को शिकार बनाया था. हाइंड्स 1999 से 2010 तक इंटरनेशनल करियर में सक्रिय रहे.

पहले टी20 वर्ल्‍डकप के श्रीलंका के दो रिकॉर्ड अब तक कायम, क्‍या इस बार टूटेंगे

मार्टिन वान जार्सवेल्‍ड : दाएं हाथ के दक्षिण अफ्रीका के मार्टिन वान जार्सवेल्‍ड (Martin van Jaarsveld) को बैटर के तौर पर काफी ऊंचा रेट किया जाता था. फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट में उन्‍होंने 44.55 के औसत से 18 हजार से अधिक रन बनाए जिसमें 52 शतक शामिल रहे. हालांकि इंटरनेशनल क्रिकेट में वे प्रतिभा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर पाए और 9 टेस्‍ट और 11 वनडे ही खेल सके. टेस्‍ट में वे महज 397 और वनडे में 124 रन ही बना सके. बैटर के तौर पर पहचान होने के बावजूद जार्सवेल्‍ड ने वनडे करियर की पहली ही गेंद पर विकेट लेने का रिकॉर्ड जरूर बनाया. 2002-03 में बांग्‍लादेश के खिलाफ किम्‍बरले में हुए वनडे में उन्‍होंने तल्‍हा जुबेर को बोल्‍ड किया था. इस मैच में उन्‍होंने केवल एक गेंद फेंकी थी और इसी पर बांग्‍लादेश टीम के आखिरी बैटर को आउट करने में सफल रहे थे. ODI में दो विकेट जार्सवेल्‍ड के नाम पर दर्ज हैं.

Tags: Cricket, Inzamam ul haq, Team india



Source link

Related posts

4-4-0-2… T20I में चारों ओवर मेडन फेंक चुका एक बॉलर, वर्ल्‍ड कप में भी दिखाएगा जलवा

Ram

सिर्फ 14-15 IPL मैच चाहिए, और तैयार हो जाएगा यह खूंखार बल्लेबाज, इंग्लैंड को पूर्व कप्तान ने टी20 विश्व कप से पहले दी चेतावनी

Ram

मोहम्मद शमी के रिप्लेसमेंट का हुआ ऐलान… गुजरात टाइटंस टीम से जुड़ा ये गेंदबाज, फ्रेंचाइजी ने 50 लाख में अपना बनाया

Ram

Leave a Comment