इंदौर =*अवैध शराब की तस्करी करने वाले तीन आरोपी क्राईम ब्रांच की गिरफ्त मे आरोपी दिल्ली से लाकर इंदौर मे खपाते थे अवैध शराब।*

इंदौर =*अवैध शराब की तस्करी करने वाले तीन आरोपी क्राईम ब्रांच की गिरफ्त मे आरोपी दिल्ली से लाकर इंदौर मे खपाते थे अवैध शराब।*
इंदौर =*अवैध शराब की तस्करी करने वाले तीन आरोपी क्राईम ब्रांच की गिरफ्त मे आरोपी दिल्ली से लाकर इंदौर मे खपाते थे अवैध शराब।*

*अवैध शराब की तस्करी करने वाले तीन आरोपी क्राईम ब्रांच की गिरफ्त मे  ।*

*आरोपी स्टेशनरी का चालान बिल्टी बनाकर करते थे अवैध शराब की तस्करी।*

*आरोपी दिल्ली से लाकर इंदौर मे खपाते थे अवैध शराब।*

*आरोपियों से 05 मोबाईल एवं अंग्रेजी शराब व्हाईट एंड ब्लू, आफ्टर डार्क, बोटामस अप कुल 05 पेटी, कुल बोतल 49 अंग्रेजी तथा चालान बिल।  (कुल कीमत 40000 रुपये) जप्त ।*

इंदौर - दिनांक 02 अगस्त 2021

 क्राईम ब्रांच की टीम को मुखबिर से सूचना मिली थी कि केपीटल इण्डिया लाजिस्टिक ट्रान्सपोर्ट साँवेर रोड पर स्टेशनरी के बिल्टी चालान बनाकर अवैध शराब की तस्करी हो रही है।  उक्त सूचना पर क्राईम ब्रांच की टीम मुखबिर के बताये स्थान पर पहुंची जहाँ पर *(1) जितेन्द्र पिता मांगीलाल भोज उम्र 39 साल नि.127 गली न.08 मयूर मूसाखेडी आजाद नगर इंदौर  (2) चंदन पिता लालचंद कौचल उम्र 34 साल नि.183 भावना नगर खण्डवा नाका इंदौर (3) गोविन्द पिता भावरसिंह गुर्जर उम्र 38 साल नि.84 लालबाहदूर शास्त्री नगर अन्नपुर्णा इंदौर* 
मिले । उनके पास मिले प्लास्टिक के पैकेट का पर नम्बर 6275-5 के बारे मे पुछने पर बताया की यह स्टेशनरी है, यह दिल्ली से आया है।  जब पैकेट को खुलवाया गया तो उसमे 05 पेटी अंग्रेजी शराब निकली। उसकी बिल्टी के बारे मे पूछने पर उसने एक चालान लाकर बताया तो उसमे स्टेशनरी का बिल आना पाया गया। इस प्रकार स्टेशनरी का चालान बिल्टी बनाकर अवैध शराब का परिवहन होना पाया गया। शराब के लायसेंस व परमीट के बारे पुछने पर नही होना बताया गया। आरोपीयानों ने बताया कि यह पैकेट दीपेश वाधवानी पिता अशोक वाधवानी पहले भी आता था तो ले जाते थे इस प्रकार पाया गया कि स्टेशनरी का बिल बिल्टी बनाकर अवैध रूप से शराब का परिवहन किया जा रहा है। जिस पर उक्त आरोपियों के विरूद्ध 
*थाना अपराध शाखा के अप.क्र.21 धारा 34(1) आबकारी एक्ट एवं 420, 34 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध* किया गया।
पुलिस द्वारा आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है जिनसे प्रकरण में व अन्य साथियों आदि संबंध में पूछताछ की जा रही है।